गया में दलित-महादलित महासम्मेलन में बोले सीएम, हमने जो ठान लिया उसे करके दिखाया

0
142

पटना:  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आरक्षण के सवाल पर काेई समझाैता नहीं हाेगा. हमने जाे ठान लिया, वह करके दिखाया. पंचायती राज व्यवस्था व नगर निकाय के चुनाव में आरक्षण दिलाया. इसलिए मन में भ्रम न रखें. किसी के बहकावे में न आएं. कुछ लाेग समाज में भ्रम पैदा करने व गुमराह करने में लगे हैं. उनकी बाताें में न आएं. मुख्यमंत्री बुधवार को यहां गांधी मैदान में आयाेजित जदयू के मगध प्रमंडल दलित-महादलित महासम्मेलन काे संबोधित कर रहे थे.




नीतीश कुमार ने कहा कि जब 2005 में सत्ता में आया, ताे समाज का जाे हिस्सा हाशिये पर था, उसके लिए न्याय के साथ विकास की बात साेची. उसके लिए विशेष पहल करनी है. यही मेरा नजरिया था, जिसके लिए सतत काम कर रहा हूं. मैंने पाया कि 12.5% बच्चे स्कूल से बाहर हैं. इनमें सबसे अधिक गरीब-गुरबे, दलित-महादलित के बच्चे थे. तब टाेलाें, कस्बाें में 22000 स्कूल खाेले गये.

लाख से ज्यादा नये कमरे बनवाये गये. तीन लाख से ज्यादा शिक्षक बहाल किये गये. 20,000 टाेला सेवक और 10,000 शिक्षा स्वयंसेवकों को नियुक्त किया गया. ये भी उसी वर्ग के लाेग हैं, जिन्हें राेजगार भी मिला. वर्षाें तक काम कराया. अब एक फीसदी से कम बच्चे स्कूल से बाहर रह गये हैं. अब उन्हें अनुसूचित जाति, जनजाति, अल्पसंख्यक, अति पिछड़ा वर्ग की महिलाआें काे साक्षर करने में लगाया गया है. बच्चाें काे पढ़ाना मत छाेड़िए. मुख्यमंत्री ने कहा, आकलन कीजिए, शिक्षा या अन्य क्षेत्राें के विकास में पहले क्या हाेता था आैर अब कैसा महसूस कर रहे हैं.




विकास कार्य की निगरानी रखें
सीएम ने सात निश्चय से लेकर अनुसूचित जाति, जनजाति, दलित व महादलित के सर्वांगीण विकास के लिए किये जा रहे काम गिनाये आैर इसका लाभ लेने के तरीके भी बताये. कहा कि काम का विकेंद्रीकरण किया गया. वार्डवार काम काे बांट कर यह सख्त हिदायत दी गयी है कि जहां दलित-महादलित सबसे ज्यादा हैं, उन्हें प्राथमिकता सूची में रख पहले वहीं से काम शुरू करें.




उन्होंने लोगों से कहा कि विकास के काम की आप निगरानी रखें और सजग रहें. सीएम ने कहा कि शराबबंदी से हर घर में खुशहाली आयी है. लाेग पैसे की बचत कर बच्चाें काे पढ़ाने, घर बनाने लगे हैं. राेजी-राेजगार में जुट गये. इसका सबसे अधिक लाभ गरीब-गुरबे, अनुसूचित जाति, जनजाति, दलित व महादलित काे हुआ. सभी आदर्श नहीं हाे सकते, कुछ ताे घचपच करनेवाले हैं, जाे गंदा करते रहते हैं.

कार्यक्रम में सांसद आरसीपी सिंह, रामचंद्र प्रसाद सिंह, कल्याण मंत्री रमेश ऋषिदेव, भवन निर्माण मंत्री महेश्वर प्रसाद हजारी, शिक्षा मंत्री कृष्णनंद प्रसाद वर्मा, परिवहन मंत्री संतोष निराला, पूर्व मंत्री व विधानमंडल में उपनेता श्याम रजक, पूर्व मंत्री अशाेक चाैधरी, विधायक अभय कुशवााहा, विनाेद प्रसाद यादव, रत्नेश सदा, ललन सर्राफ, सत्यदेव कुशवाहा, वीरेंद्र सिंह, विधान पार्षद मनाेरमा देवी के अलावा मगध प्रमंडल के अन्य विधायक, विधान पार्षद, पूर्व विधायक, पूर्व मंत्री, पांचाें जिलाें के जदयू, युवा जदयू, महानगर जदयू, दलित-महादलित प्रकाेष्ठ के जिलाध्यक्ष माैजूद थे. मंच पर आने से पहले मुख्यमंत्री गेवाल बिगहा स्थित माैलाना उमर नूरानी के घर पहुंचे व मगध प्रमंडल के माैलवियाें से बातें कीं.



बच्चों को खूब पढ़ाइए और आगे बढ़ाइए
मुख्यमंत्री ने किसी का नाम लिये बिना तेजस्वी यादव व राहुल गांधी पर निशाना साधा और कहा कि कुछ लाेग बिना काम किये राजनीति में आ रहे हैं. समाज में कटुता पैदा कर रहे हैं. आप एकता में बंधिए. बच्चाें काे खूब बढ़ाइए आैर आगे बढ़ाइए. उन्हाेंने कहा कि गया माेक्ष व ज्ञान की भूमि है. यह माउंटेनमैन दशरथ मांझी की जन्म व कर्मभूमि है.

जब माउंटेनमैन जनता दरबार के दाैरान पटना पहुंचे थे, ताे उन्हें सीएम की कुर्सी पर बैठाकर मान-सम्मान दिया था. बुद्ध ने प्रेम, शांति, सद्भावना व अहिंसा का संदेश दिया था. उनके व आंबेडकर के संदेशाें काे आत्मसात करें. आज संकल्प लीजिए आैर आगे बढ़िए. आंबेडकर ने भी बाैद्ध धर्म स्वीकार किया था. मुख्यमंत्री ने लाैह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर उन्हें नमन किया.




गाना गाने वाले बच्चे को सम्मानित किया
चाकंद प्राथमिक स्कूल के छात्र लाल बाबू ने जाेशीले आवाज में मंच से ‘हिंदू हाे चाहे मुसलमान, नीतीश जी बिहार में भगवान, नीतीश जी बिहार में विकास वाले…’ गाकर सुनाया, ताे सीएम गदगद हाे गये. सीएम ने छात्र को माला पहनाया और शॉल व भगवान बुद्ध की मूर्ति भेंट की. छात्र ने सीएम के साथ सेल्फी भी ली.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here