तीसरे स्थान पाकर ट्रॉफी से चूके दीपक ठाकुर, जीता 20 लाख रुपए के साथ लाखों लोगों का दिल

0
205

दीपक ठाकुर से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • दीपक ठाकुर का जन्म एक किसान परिवार में हुआ था।
  • बहुत ही कम उम्र में उन्होंने संगीत सीखना शुरू कर दिया था।

  • गायन की ओर उनके जुनून को देखने के बाद उनका परिवार “अथर गांव” से “मुजफ्फरपुर” चला गया।
  • शुरुआत में, वह विवाह, जागरण और छोटे समारोहों में गायन की प्रस्तुति देते थे।
  • संगीत निर्देशक स्नेहा खानवाल्कर ने उन्हें पहले देखा और फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर – भाग 1’ (2012) के गीत ‘हमनी के छोडी के’ को गाने के लिए अवसर दिया।

  • उन्होंने बॉलीवुड के सुपर हिट गीत “मुरा-मॉर्निंग” (गैंग्स ऑफ वासेपुर – भाग 2; 2012) और “अधुरा मैं” (मुक्केबाज़ 2018) गाए हैं।
  • वह अपने नाम “दीपक कुमार” से एक यूट्यूब चैनल को भी चला रहे हैं। जिसमें वह हिंदी, पंजाबी और भोजपुरी भाषाओँ में अपने गीतों की वीडियों को साझा करते रहते हैं।
  • उन्हें कुत्तों से बहुत प्रेम है।

    दीपक ठाकुर अपने कुत्ते के साथ

    दीपक ठाकुर अपने कुत्ते के साथ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here