लालटेन युग से निकलकर रौशन हुआ बिहार, CM नीतीश ने घर-घर में पहुंचाई बिजली

0
253

पटना: बिहार के सभी 1 करोड़ 40 लाख घरों में बिजली पहुंचाने के बाद अब एक साल में हर खेत तक बिजली पहुंचेगी। यही नहीं एक साल में ही सूबे के तमाम जर्जर तार बदले जाएंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को यह ऐलान किया।




मुख्यमंत्री ने कहा कि एक साल में सारे कृषि फीडरों का निर्माण करने और खेतों तक बिजली पहुंचाने का टास्क बिजली कंपनी को सौंपा। सारे जर्जर तारों को इसी अवधि में बदलने की जिम्मेवारी भी दी। उन्होंने कहा कि इसके लिए पैसे की कोई कमी नहीं होगी। बजट से अलग भी पैसे मिलेंगे। पर, लक्ष्य हर हाल में पूरा होना चाहिए।

सात निश्चय के तहत हर घर बिजली के निश्चय के पूरा होने और बिहार स्टेट पावर होल्डिंग कंपनी के स्थापना दिवस पर स्थानीय बापू सभागार में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यह टास्क बिजली कंपनी को दिया। कार्यक्रम में उन्होंने ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, बिजली कंपनी के सीएमडी प्रत्यय अमृत व अन्य अधिकारियों सहित मौजूद इंजीनियरों से इस आशय का वचन भी लिया। विभाग को कृषि कार्य के लिए अलग फीडर का काम जल्द पूरा करने का टास्क भी मुख्यमंत्री ने दिया।



मुख्यमंत्री ने कहा कि मिशन मोड में पुराने कंडक्टर को बदलने का काम किया जाए। उन्होंने कहा कि हम बजट से अतिरिक्त राशि देंगे, आप काम कीजिए। मुख्यमंत्री समय सीमा की घोषणा नहीं करना चाह रहे थे, लेकिन बिजेंद्र प्रसाद यादव के अनुरोध पर घोषणा भी कर दी। बिजली कंपनी को यह परामर्श दिया कि वे बिलिंग सिस्टम को अपडेट करें। इससे बिजली कंपनी का घाटा और कम हो जाएगा। संबोधन समाप्त होने के बाद दुबारा सीएम ने माइक से यह घोषणा की कि पटना में 85 करोड़ रुपए की लागत से नये विद्युत भवन का निर्माण होगा, पटना स्थित बोर्ड कॉलोनी में एक प्री फैब्रिकेटेड ऑडिटोरियम और नए सामुदायिक भवन का निर्माण भी किया जाएगा।



बताते चले कि 25 अक्टूबर की की रात सूबे के सभी घरों में बिजली पहुंचने के साथ ही बिहार देश के आठ राज्यों में शामिल हो गया जहां शह-प्रतिशत घरों तक बिजली पहुंची है। बिहार के अलावा मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, गोवा में बिजली पहुंच चुकी है। हालांकि पुडुचेरी में भी शत-प्रतिशत घरों में बिजली पहुंच चुकी है। 24 अक्टूबर तक बिहार के 99 फीसदी घरों में बिजली पहुंची थी।



उल्लेखनीय है कि 25 अक्टूबर की की रात सूबे के सभी घरों में बिजली पहुंचने के साथ ही बिहार देश के आठ राज्यों में शामिल हो गया जहां शह-प्रतिशत घरों तक बिजली पहुंची है। बिहार के अलावा मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, गोवा में बिजली पहुंच चुकी है। हालांकि पुडुचेरी में भी शत-प्रतिशत घरों में बिजली पहुंच चुकी है। 24 अक्टूबर तक बिहार के 99 फीसदी घरों में बिजली पहुंची थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here