बिहार में 20 साल बाद भारी तूफान की आशंका, आपदा प्रबंधन विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट

0
627

बिहार में 20 साल बाद भारी तूफान की संभावना जताई जा रही है, जिसे लेकर राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है। विभाग ने 16 और 17 अप्रैल के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। विभाग की ओर से जो एडवाइजरी जारी की गई है, उसके अनुसार लोगों को आंधी-तूफान के दौरान सुरक्षित स्थान पर रहने की सलाह दी गई है।

राजधानी पटना में चल रही धूल भरी आंधी 

पटना में सुबह से ही मौसम खराब हो गया है और धूल भरी आंधी चल रही है। मौसम खराब होने के कारण चुनाव प्रचार के लिए कोई नेता एयरपोर्ट से रवाना नहीं हो सके हैं। भाजपा नेता सीपी ठाकुर एयरपोर्ट से वापस लौटे।पायलट ने मौसम खराब होने का दिया हवाला। 12 बजे तक सभी चुनाव प्रचार की उड़ाने रोकी गयी हैं।वहीं, कटिहार में मंगलवार की रात आंधी व तूफान से फसलों को हुआ नुकसान, आम जनजीवन प्रभावित है। 

आरा और बक्सर में बदला मौसम का मिजाज 

बिहार के आरा और बक्सर में भी मौसम खराब हो गया है। दोनों जिलों में तेज धूलभरी आंधी के साथ बूंदाबांदी शुरू हो चुकी है। एक ओर जहां तेज गर्मी से लोगों को राहत मिली है वहीं गेहूं की तैयार फसल बर्बाद हो रही है जिससे किसानों में चिंता दिख रही।

60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा बहने की आशंका 

बिहार के कई जिलों में वज्रपात, ओलापात, 60 से 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा बहने की आशंका जताई जा रही है। राज्य के सीमावर्ती जिले पूर्वी चंपारण, पश्चमी चंपारण समेत पूरे राज्य के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। हालांकि पटना समेत अन्य जिलों में अलर्ट नहीं जारी किया गया है, लेकिन यहां भी आंधी-पानी की आशंका जताई गई है।

विभाग की तरफ से जारी की गई एडवाइजरी में  लोगों से कहा गया है कि तेज आंधी पानी के दौरान अपने घर के सबसे मजबूत हिस्से में रहें। टूटे बिजली के तारों से सावधान रहें। किसी भी जानकारी के लिए बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के नंबर 06122522032 पर संपर्क करें।

जिन जिलों में बचाव की तैयारी पूरी रखने का निर्देश दिया गया है, उनमें पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, छपरा, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, वैशाली, शिवहर, समस्तीपुर, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, सहरसा और मधेपुरा शामिल हैं।

Sources:-Dainik Jagran

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here