न्यूजीलैंड में पहली बार टी-20 सीरीज जीतने के इरादे से मैदान पर उतरेगा भारत

0
62

न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 मुकाबले में धमाकेदार वापसी करने वाली भारतीय टीम तीसरे और आखिरी मुकबाले में जीत के इरादे से मैदान पर उतरेगी. पहले टी-20 मुकाबले में मिली हार के बाद भारत ने दूसरे मैच में सात विकेट से जीत दर्ज कर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है. ऐसे में रविवार को खेले जाने वाला यह मुकाबला क्रिकेट फैंस के लिए ‘सुपर संडे ’ होगा. तीसरे टी-20 मैच में हैमिल्टन मैदान की पिच से भारत को सावधान रहना होगा. इस मैदान पर चौथे वनडे मैच में ट्रेंट बोल्ट की अगुवाई में स्विंग गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन से न्यूजीलैंड ने भारत की पारी को महज 92 रन पर समेट दिया था.

रविवार को हालांकि परिस्थितियां अलग तरह की होंगी और टीम के लिए विदेशी सरजमीं पर चुनौतीपूर्ण हालात में एक और सीरीज जीतने से बड़ी प्रेरणा शायद ही कुछ और हो. भारतीय तेज गेंदबाज खलील अहमद ने रविवार को अच्छे प्रदर्शन का भरोसा जताते हुए कहा, ‘‘ हमने हैमिल्टन में खेला है और जहां तक पिच की बात है तो इसमें कुछ आश्चर्यचकित करने वाली चीज नहीं होगी.. इसके अलावा दूसरे टी20 को जीतने के बाद अंतिम मैच के लिए हमारा आत्मविश्वास ज्यादा होगा. हमने पहले मैच में की गयी गलतियों में सुधार किया है.’’

भारत पहले दो टी20 में एक ही टीम के साथ उतरा और अंतिम मैच में भी वही संयोजन बरकरार रखना चहेगा. टीम मैनेजमेंट अगर कोई बदलाव करना चाहेगा तो युजवेन्द्र चहल की जगह कुलदीप को मौका मिल सकता है. खेल के इस फॉर्मेट में टीम ने हालांकि ज्यादातर मौके पर चहल पर भरोसा जताया है.

भारतीय बॉलिंग यूनिट पिछले मैच के अपने अच्छे प्रदर्शन को दोहराना चाहेगी जहां उसने टिम सेफर्ट को आउट करने के बाद लय हासिल की थी. क्रुणाल पांड्या एक बार फिर पिछले दो मैचों के प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे. इस टीम में क्रुणाल को हालांकि सबसे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों में नहीं माना जाता लेकिन कड़ी मेहनत और अनुशासन के दम पर वह इस संयोजन का अहम हिस्सा बन गये हैं. तेज गेंदबाजी की कमान अनुभवी भुवनेश्वर कुमार और युवा खलील अहमद के हाथों में होगी.

टीम के कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा टी20 मुकाबलों में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गये हैं. वह तीसरे मैच में अपनी पारी को वहीं से शुरू करना चाहेंगे जहां 29 गेंद में 50 रन की उनकी पारी खत्म हुई थी. ओपनर बल्लेबाजी में उनके जोड़ीदार शिखर धवन ने भी ऑकलैंड में फॉर्म में आने के संकेत दिये.

मध्यक्रम की जिम्मेदारी अनुभवी महेन्द्र सिंह धोनी के कंधो पर होगी और टीम ऋषभ पंत से एक और अच्छी पारी की उम्मीद करेगी. न्यूलीलैंड का ध्यान बीच के ओवरों में बेहतर बल्लेबाजी करने पर होगा. कप्तान केन विलियमसन वनडे में अपनी ख्याति के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर सके थे और दिग्गज रॉस टेलर भी भारत के खिलाफ निरंतर प्रदर्शन करने में असफल रहे हैं. गेंदबाजी की बात करें तो टिम साउथी पहले टी20 में प्रभावशाली थे जबकि दूसरे में वह औसत गेंदबाज दिखे. तेज गेंदबाजी में उनके जोड़ीदार स्कॉट के. भी प्रभाव छोड़ने में असफल रहे.

टीमें:
भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक, केदार जाधव, एम एस धोनी, कृणाल पंड्या, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कौल, खलील अहमद, शुभमान गिल, विजय शंकर, हार्दिक पंड्या, मोहम्मद सिराज

न्यूजीलैंड: केन विलियमसन (कप्तान), डग ब्रासवेल, कोलिन डे ग्रांडहोमे, लोकी फर्ग्युसन, स्काट के, कोलिन मुनरो, डेरिल मिशेल, मिशेल सेंटनर, टिम सेइफर्ट, ईश सोढी, टिम साउदी, रोस टेलर, ब्लेयर टिकनर, जेम्स नीशाम .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here