कुंभ 2019: ये हैं सभी प्रमुख स्‍नान तिथियां

0
53

50 दिन चलेगा 2019 का अर्द्घ कुंभ

2019 में कुंभ मेले का आरंभ 15 जनवरी से हो रहा है आैर ये तब से लेकर 50 दिन यानि 4 मार्च तक चलेगा। इस बार का आयोजन प्रयागराज में हो रहा है। वैसे कुंभ में 6 प्रमुख स्नान की तिथियां होंगी, परंतु कुछ अन्य दिनों पर भी कुंभ स्नाान का महत्व है। आइये जानें कि क्या हैं इस अर्द्ध कुंभ में सभी शाही स्नान, 6 प्रमुख स्नान तिथियां आैर अन्य महत्वपूर्ण स्नान तिथियां।

ये हैं 6 प्रमुख तिथियां

मकर संक्रांति, पौष पूर्णिमा, मौनी अमावस्या, वसन्त पंचमी, माघी पूर्णिमा, महाशिवरात्रि। पौष महीने की 15वीं तिथि को पौष पूर्णिमा कहते हैं। जो 2019 में 21 जनवरी को होगी इसके बाद ही माघ महीने की शुरुआत होती है। कुंभ मेले में पांचवां स्नान 19 फरवरी को माघी पूर्णिमा के दिन होगा। कहते हैं कि इस दिन सभी हिंदू देवता स्वर्ग से संगम पधारे थे आैर इसी दिन कल्पवास व्रतधारी स्नान कर अपना व्रत पूर्ण करते हैं। इस दिन बहस्पति गुरू की भी पूजा की जाती है। कुंभ मेले का आखिरी स्नान महा शिवरात्रि के दिन होगा 4 मार्च को है। एेसा माना जाता है कि इस दिन का देवलोक में भी इंतज़ार रहता है।

तीन शाही स्नान होंगे

कुंभ में कुल तीन शाही स्नान होंगे जिनमें से पहला मकर संक्रांति को कुंभ की शुरुआत पर 15 जनवरी को होगा। इसे शाही स्नान और राजयोगी स्नान भी कहा जाता है। इस दिन कई अखाड़ों के संत पहले शोभा यात्रा निकालेंगे, फिर संगम तट पर स्नान करेंगे। मौनी अमावस्या को दूसरा शाही स्नान होगा। इसे मुख्य शाही स्नान भी कहा जाता है। मान्यता है कि इसी दिन कुंभ के पहले तीर्थाकर ऋषभ देव ने अपनी लंबी तपस्या के पश्चात मौन व्रत तोड़ कर संगम में स्नान किया था। 2019 में मौनी अमावस्या 4 फरवरी को है। माघ महीने की पंचमी तिथ‍ि को बसंत पंचमी होती है, ये तिथि इस बार 10 फरवरी को पड़ रही है। इसी दिन तीसरा आैर अंतिम शाही स्नान होगा। हिंदू मान्‍यताओं के अनुसार इस दिन देवी सरस्‍वती का जन्‍म दिवस भी माना जाता है।

कुंभ स्नान की कुल तिथियां

वैसे तो कुंभ पर हर दिन स्नान किया जाता है आैर सभी दिन शुभ होते हैं परंतु कुछ विशेष तिथियां हैं जिन पर श्रद्घालु स्नान करने को अत्यंत पुण्यदायक मानते हैं। नीचे दी गर्इ तिथियां उन्हीं में शामिल हैं।

1- मकर संक्रांति

2- पौष पूर्णिमा

3- एकादशी स्नान

4- मौनी अमावस्या

5- वसन्त पंचमी’

6- रथ सप्तमी

7- माघी पूर्णिमा

8- भीष्म एकादशी

9- महाशिवरात्रि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here