शनिदेव के इस धाम में साल में एक बार होता है अद्भुत चमत्कार, सुनेंगे तो बन जाएंगे शनि भक्त

0
148

समुद्री तल से लगभग 7000 फुट की ऊंचाई पर स्थित इस शनिधाम में हर साल चमत्कार होता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार न्याय के देवता शनिदेव को हिंदू देवी यमुना का भाई माना जाता है। शनिदेव को न्याय का देवता भी कहा जाता है।

देवभूमि उत्तराखंड के खरसाली में मां यमुना के बड़े भाई शनिदेवका धाम स्थित है। जहां भगवान शनिदेव 12 महीने तक विराजमान रहते हैं। अपने कष्टों का दूर करने के लिए हर साल शनि मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं।

इस मंदिर की कलाकृति बेहद ही प्राचीन है। इतिहासकार मानते हैं कि इस मंदिर का निर्माण पांडवों ने करवाया है। यह मंदिर पांच मंजिला है, लेकिन बाहर से पता नहीं लग पाता। मंदिर के निर्माण में पत्थर और लकड़ी का उपयोग किया गया है।

मंदिर में शनिदेव की कांस्य मूर्ति विराजमान है। शनि मंदिर में एक अखंड ज्योति मौजूद है। स्थानीय लोगों की मान्यता है कि इस अखंड ज्योति के दर्शन मात्र से ही जीवन के सारे दुख दूर हो जाते हैं। यमुनोत्री धाम से लगभग 5 किलोमीटर पहले ये मंदिर पड़ता है।

मंदिर पुरोहितों के अनुसार इस मंदिर में साल में एक बार कार्तिक पूर्णिमा के दिन अद्भुत चमत्कार होता है। इस दिन मंदिर के ऊपर रखे घड़े खुद बदल जाते हैं। पुरोहितों की मानें तो इस दिन जो भक्त शनि मंदिर में अपने कष्ट को लेकर आता है, उसके कष्ट हमेशा के लिए समाप्त हो जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here